Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

31.1.08

कह दो जो दिल में है

नवभारत टाइम्स में पिछले रविवार को फोकस पेज पर ब्लागिंग को लेकर जो कुछ छपा, उसमें भड़ास का भी जिक्र आया। ढेर सारे भड़ासी साथियों ने मुझसे अनुरोध किया कि वो जो कुछ छपा है, उसे भड़ास पर डाला जाय, ताकि वो दूर के शहरों में रहकर भी इसे पढ़ सकें, उनके अनुरोध को ध्यान में रखते हुए मैं एक लिंक यहां दे रहा हूं..
कह दो जो दिल में है
इस पर क्लिक करते ही आप नवभारत टाइम्स की साइट पर पहुंच जाएंगे और ब्लाग वाली स्टोरी को पढ़ सकेंगे।

जय भड़ास
यशवंत

4 comments:

Anonymous said...

I found this site using [url=http://google.com]google.com[/url] And i want to thank you for your work. You have done really very good site. Great work, great site! Thank you!

Sorry for offtopic

Anonymous said...

Who knows where to download XRumer 5.0 Palladium?
Help, please. All recommend this program to effectively advertise on the Internet, this is the best program!

Anonymous said...

What do you think about WIKILEAKS?
By the way, anybody home?!

Anonymous said...

लोग जो बाहर काम अक्सर कुछ की खुराक लेने के लिए मदद के लिए उन्हें अपने workouts से बेहतर लाभ मिल सकता है. कभी कभी इन लोगों को लेने के पूरक सुरक्षित हैं और अन्य मामलों में वे सुरक्षित नहीं हैं . वहाँ भी कर रहे हैं मामलों में जहां इसके अलावा लोगों को लगता है कि सुरक्षित है , जो वास्तव में बहुत खतरनाक है . इस तरह के उत्पाद का एक उदाहरण मट्ठा प्रोटीन है. मट्ठा प्रोटीन एक उत्पाद है कि लोगों को करना है , ज्यादातर पुरुषों है, क्योंकि महिलाओं के लिए सोया प्रोटीन पाउडर उपभोग, क्रम में मिलने के लिए उनके प्रोटीन की हर दिन की जरूरत की संभावना है . हम इस लेख में चर्चा करेंगे तीन मट्ठा प्रोटीन खतरों के लिए एक और मट्ठा प्रोटीन का उपयोग करने से पहले हिला याद .
पर और अधिक [url=http://wheyproteindangerss.com/]Whey Protein Dangers[/url]