Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

27.2.08

दोस्ती में दूरी माने नहीं रखती....

फूलो की खुशबू को चुराया नही जाता

पर लोग चुराने की कोशिश करते है।

सूरज की रोशनी को छुपाया नही जाता

पर छुपाने की कोशिश कर लेते है।

दोस्ती में दूरी माने नहीं रखती है

पर लोग कान भर कर दूरी बढ़ा देते है।

कान के कच्चे दोस्ती को भुला देता है।

मांगी जिसने चांदनी उसे चांदनी मिली

रोशनी मांगने वाले को रोशनी मिली

मैं भगवान से दोस्ती मांगी

मुझे आप जैसे पक्के कान दोस्त मिले।

अजीत

1 comment:

डा०रूपेश श्रीवास्तव said...

डा.अजीत भाई,बहुत सुन्दर.....