Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

13.3.08

गुंडा जी, मैं किससे डर जाऊं?

दोस्तों, मैं बिल्कुल फिट हूँ. भाड़े के कुछ लोगों के जरिये मुझे आतंकित करने की जो मंशा पाले हुवे लोग हैं, उन्हें समझ लेना चाहिए की हम लोग मौत से कभी नहीं घबराते. और जब आप मौत से डरने से इंकार कर देते हैं तो ये छोटे मोटे हमले बजाय डराने के, और ज्यादा उत्साहित कर देते हैं.

तो साथियों, मैं बेहद प्रसन्न हूँ. नाक पे थोडी सी चोट है, लेकिन नाक टूटी नही है और नाक टूटने भी नही देनी है.

मैं शाम को परिवार समेत फ़िल्म देखने जा रहा हूँ, और सभी को बता के जा रहा हूँ ताकि अगर गुंडा जी लोग वहाँ भी हमला करना चाहें तो कर लें, लेकिन बता जरुर दे कि मुझे आख़िर डरना किससे चाहिए क्योंकि मेरे एक दो दुश्मन होते तो मैं उनसे डरता भी, मेरे तो सैकड़ों दुश्मन हैं, जो बेहद बड़े बड़े पदों पे आसीन हैं और कई शहरों में हैं. तो गुंडा जी लोग, बता भी देना, किससे डरना चाहिए मुझे......:) वरना आप के हमले बेकार होते रहेंगे. खामखा आप और मेरी दोनों की उर्जा बेकार जाया होती रहेगी. तो आज शाम या रात फिर मिलना कहीं. मैं आज भी उन्ही रास्तों से रात मे अपनी कार से गुजरूँगा जिन रास्तों पे आप ने मुझे कल पाया. ओके...बेस्ट ऑफ़ लक....हम दोनों के लिए...

सभी का आभार...

दिल से खुशी हुयी कि मुश्किल में एक साथ हजारों हाथ मदद को खड़े हो जाते हैं, यही हम लोगों की ताकत है जिसे बनाये रखने कि जरुरत है.

मैं दिल से शुक्रिया कहता हूँ, आप सभी साथियों को.

जय भड़ास
यशवंत

10 comments:

अबरार अहमद said...

यशवंत भाई, आप अकेले नहीं आपके साथ 250 यशवंत और हैं। भाडे के कुत्ते किस किस को काटेंगे। सालों के टेटुए दबा देंबे। आप पर हमले की सूचना वाकई दर्द देने वाली थी लेकिन आपकी सुकशलता से दिल को बहुत सुकून मिला। हम सब आपके साथ हैं और हमेशा रहेंगे। बस जल्द आप फिट हो जाइए ताकि इन कायरों को उनकी करतूत का करारा जवाब दिया जा सके।
इनकलाब भडास

Anonymous said...

DADA FILIM DEKHNE JARUR JAAO...HO SAKE TO UN BHAUNSRI VAALON KO BATAA KAR JAAO...DEKHTE HAIN IN MAADARCHODON KI AUKAAT...SSAALON KAA THORA SA BHI PATA TO LAGE DAADAA HAM BEGUSARAI KE LOGON KI SAHANUBHUTI AAPKE SAATH HAI....SIRF SAHANUBHUTI HI NAHI BALKI JAB BULVAAIYE PURAA TRAIN BOOK KAR KE HAAJIR HO JAAYENGE ...BAS APNE SWASTHY KAA KHYAAL RAKHIEGAA.
JAI BHADAS
JAI YASHVANT
MANISH RAJ BEGUSARAI

विनीत खरे said...

मैं भड़ासी न होते भी इस हमले की कड़े शब्दों मे निंदा करता हू और कामना करता हू की यशवंत जी कल यथापुर्वक ही हम सबसे मिले |

मुनव्वर सुल्ताना said...

मनीष ,मेरे शेर ए बबर ,जियो,ये हुई न बात मेरे भाईयों वाली । सुबह आपने फोन किया तो सचमुच दिल को बड़ी राहत मि्ली कि वाकई हम कहीं भी और कितनी भी दूरी पर हॊं लेकिन एक दूसरे के दिलों में रहते हैं । डा.साहब भी रात में जो फ़्लाइट मिलती उससे निकलने वाले ही थे तभी यशवंत भाई का करीब डेढ़ बजे फोन आया तो बात करके जरा शान्ति मिली ।
फ़ानूस बन के जिसकी हिफाजत हवा करे
वो शमा क्या बुझे जिसे रौशन खुदा करे
अबरार भाईजान,२५० यशवंत हैं और एक एक यशवंत हजार हजार हरामियों पर भारी है....

amardeep said...

yashwant bhai par hamla karne wale aur karwane wale kamini jaat wali nasl ka hai. don't worry yashwant bhai jo in kamini jaat walo ne hamla karke chalenge diya hai. ham sab unka muhtod jabab denge.
-amardeep gupta. ludhiana, dainik bhaskar

शशिकान्‍त अवस्‍थी said...

यश्वंत भाई कल से फोन लाईन खराब थी इसलिये भड़ास पर नज़र नही डाल पाया आज जैसे भड़ास खोला तो पहली नज़र आपके ऊपर हमले की ख़बर पढी । मन निराश हुआ कि यह सब क्‍या हो रहा है क्यों वे कौन लोग है जिनको हमसे दिक्कत हो रही है । भड़ासी तो अपना काम कर रहे है हम किसी की जांघिया उतारने मे विश्वास नही करते है लेकिन जो लोग हमारी जांघिया की तरफ ताकते हे उनको हम जांधिया पहनने लायक भी नही छोडते है । हम लोग केवल दिल्ली में नही हे बल्कि हम लोग तो पूरे देश में फैले हुये है तुम्‍हे कही छुपने की जगह भी नही मिलेगी । हम लोग लेखनी वाले है सब का जवाब लेखनी से ही देते है लेकिन वक्त पडने पर लोखनी चला ही लेते है । यश्वत भाई आप निश्चित होकर अपना काम करे हमलावर को यह पता नही होगा कि वह बर्र के छत्ते पर हाथ डाल रहा है । यह तो बाबा आनन्‍देश्‍वर की दया है कि यश्वंत भाई को केवल खरोच ही आयी अगर उनको कुछ ज्‍यादा चोट लग जाती तो सारी भड़ासी टीम आज दिल्ली में ही होती । फिर क्‍या होता । भाई आपको मोबाईल से लगातार ट्राई कर रहा हू लेकिन मोबाईल नही लग रहा है आप जब यह पढे तो प्लीज एक बार फोनिया लिजियेगा । बाबा विश्वनाथ से प्रार्थना है कि आप सपरिवार सानन्‍द रहे ।

हिज(ड़ा) हाईनेस मनीषा said...

आप सब लोग ऐसा मत सोचो कि कायर ,डरपोक को हिजड़ा कह सकते हैं,अरे अगर हिजड़े की ताकत देखना हो तो यशवंत सर आप एक बार उन फ़ट्टू लोगों में से किसी को पहचान कर बताना मैं खुद दिल्ली आकर उस हरामी के घर में जाकर उसको हिजड़ा बना दूंगी । हमें किसी बात का डर है ही नहीं ,इधर के बड़े-बड़े शाणे लोगों की हम हिजड़ों से फटती है । मेरे भाई पर हाथ उठाने वाले हिजड़े नहीं हो सकते हिजड़े तो बहादुरी का दूसरा नाम हैं ।
जय भड़ास

आनंद said...

आप पर हुए हमले की खबर सुनकर ऐसा लगता है कि यह आपको कोई चेतावनी देने के लिए की गई थी। लेकिन इस पोस्‍ट से लगता नहीं कि आपको यह क्‍लीयर हो पाया है कि क्‍या "नहीं" करना है, या किसे तंग "नहीं" करना है या किसके खिलाफ़ "नहीं" लिखना है या "किन" हरकतों से बाज आना है।

ब्‍लॉग लिखने की वजह से ऐसा हो रहा है, तो यह अपने आप मे एक ऐतिहासिक घटना है। बहरहाल, हम जानते हैं कि आप बड़े सख्‍तजान हैं, इतनी जल्‍दी साफ नहीं होने वाले :) So, Enjoy Movie, Enjoy life, आप स्‍वस्‍थ रहें, दीर्घायु रहें, जै भड़ास।

Siddharth Bhardwaj said...

Yashwant Ji, Aap par hue hamle ki khabar ko Padhkar bahut Dukh aur gussa hua.
Samaj me asamajik tatwon ki kami nahi hai.
Take Care.
Get Well Soon.

Siddharth Bhardwaj

Siddharth Bhardwaj said...

Yashwant Ji, Aap par hue hamle ki khabar ko Padhkar bahut Dukh aur gussa hua.
Samaj me asamajik tatwon ki kami nahi hai.
Take Care.
Get Well Soon.

Siddharth Bhardwaj