Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

18.6.08

आ जा आई बहार

आ जा रे मेरे दोस्त

2 comments:

डॉ.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) said...

याद आया.... प्रेम नाम है मेरा प्रेम....
क्या आपके दोस्त को याद है? :-)

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) said...

प्रेम भाई इस एक लाइन पर कोई ना आने वाला, चलिये लाइन बढाईये ओर देखिये प्यार की बौछार कैसे होती है।