Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

26.6.08

ब्रेकिंग न्यूज़ के नाम पर







हरे भाई ने जयपुर की सांस्कृतिक पत्रकारिता को लेकर मेरा ब्लॉग भडास पर डाला तो देश भर से फ़ोन पर फ़ोन आए। लेकिन क्या हम नही जानते कि हमारे टीवी चैनलों पर ब्रेकिंग न्यूज़ के नाम पर किस किस्म की मूर्खताएं हो रही हैं। कुछ नमूने आप भी मुलाहिज़ा फरमाएं । इन तस्वीरों के लिए सजग दर्शकों के प्रति हार्दिक आभार।

4 comments:

Kumar sambhav said...
This comment has been removed by the author.
Kumar sambhav said...

yea hai breaking news... patrikarita ki padhai bade jor shor ke saath ki thi.... socha tha kuch acha kam karonga ... liken es tarah ke samcharon ke ane se apna paricha patrkar batane mea bhi sharm aati hai .. agar agnya ho toa mean banaras ke assi ghat kea kashi nath singh ki bhash mea apni bhadas nikalna chahoonga " yea sale bhosadi ke param chutia inhe desh aur patrakarita ki koi chinta nahi hai".

sourabh said...

in channels ko news channel na hokar entertainment channel ho jana chahiye to behtar hoga.

हिज(ड़ा) हाईनेस मनीषा said...

भाई गुलाबी शहर के कवि,पहला कमेंट क्या इस विषय में था कि ये ब्रेकिंग न्यूज तो भड़ास पर कोई भडा़सी बहुत पहले ही डाल चुका है उसके बाद से क्या इन न्यूज चैनल्स ने कोई ऐसी ब्रेकिंग न्यूज नहीं दीं हैं या आपने टीवी नहीं देखा??????