Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

26.8.08

रिएलिटी शो बिगबॉस


बिगड़ैल जिन्दगियों का मेजबान


प्रकाश चण्डालिया

रिएलिटी शो बिग बॉस में प्रमोद महाजन की बिगड़ैल संतान राहुल महाजन की हरकतों को सोमवार की रात चैनल वाले बेचते रहे। रजत शर्मा के इंडिया टीवी चैनल को शायद हार्ड खबरें कम मिलती हैं, इसीलिए अंधविस्वास और सनसनी फैलाने वाली ऐसी बेहूदा हरकतों को खबर बनाकर परोसते रहते हैं। बहरहाल, 25 अगस्त की रात चैनलों पर दिखाया जाता रहा कि किस तरह बिग बॉस के घर में राहुल महाजन रात के तीन बजे लड़कियों के कमरे में घुस आते हैं और वहां बैठी पूर्व बदचलन लड़की पूजा बेदी, राखी, संभावना आदि के साथ रासलीला करते हैं। हालांकि रासलीला जैसा कुछ था नहीं, अलबत्ता राहुल का कैरैक्टर ढ़ीला था, ऐसा जरूर देखने को मिला। बातचीत के क्रम में जो कुछ शब्द सुनाई पड़ रहे थे, उनसे किसी को भी आभास हो सकता है कि रिएलिटी शो के नाम पर यह सब युवा पीढ़ी को बिगाडऩे की पुरअसर कोशिश है। राहुल की हरकतों के क्रम में जो कुछ सामने आया, उसे सभ्य परिवार के लोग साथ बैठकर देखने में शर्मिन्दगी महसूस करेंगे। शायद राहुल की मां और उनकी बहन को भी उसकी हरकत पर गुरेज हो। एक अवसर पर राहुल को बोलते हुए दिखाया गया है, अरे-अरे प्रभु की धोती तो मत खोल देना...(यह तब होता है, जब राहुल बाकायदा कृष्ण का रूप धारकर घूम रहा है, गोपियां बनी लड़कियां उसके ईर्द-गिर्द हैं), एक दूसरे अवसर पर वह संभावना को दबाने के लिए कहता है। हालांकि उसका ईशारा बांह दबाने से है, पर इस द्विअर्थी संवाद का मतलब साफ है-उत्तेजना पैदा करना। एक अन्य अवसर पर वह कहता है, यार, अबी -अभी तो तलाक से आया हूं। यह वाक्य सुनकर ऐसा लगता है, जैसे कोई बड़ी उपलब्धि हासिल कर लौटा हो...।
रिएलिटी शोज में इस बेहूदी हरकत से पहले धक्कामुक्की और थप्पड़बाजियां दिखायी जा चुकी हैं। अब राहुल महाजन, राखी, पूजा बेदी, संभावना, पायल जैसी महान आत्माओं की जिन्दगियों का सच देश को दिखाकर आखिर क्या हासिल करना चाहते हेैं आयोजक-प्रायोजक? संजय निरूपम जैसा पत्रकार -राजनेता आखिर किस लोभ में फंस गया नहीं कहा जा सकता, अलबत्ता उनको बिग बॉस से निकालकर अब जवान छोकरे-छोकरों से छिछोरेपन के सिवा क्या अपेक्षा की जा सकती है। पूजा बेदी से एक बड़े वर्ग की हमदर्दी अवश्य हो सकती है, लेकिन डर है कि उसकी उम्र की लड़कियां ऐसे शो देखकर और बिगड़ न जाएं। प्रमोद महाजन आज संसार में नहीं हैं, पर राहुल की हरकतों को देखकर उन्हें दु:ख अवश्य होता।

3 comments:

michal chandan said...

प्रकाश चाण्डालिया जी, पहली बात यह कि आप अपनी जानकारियों को दुरुस्त करें। इस शो में पूजा बेदी नहीं, बल्कि मोनिका बेदी है। दूसरी बात ऐसी लड़कियों को चरित्र प्रमाण पत्र देने का काम आपने कब से शुरू कर दिया?

Kumar sambhav said...

chandilya ji india tv aur colors ne jo dikhaya usea aapne bhi bade ras lekar likha hai. aapka maksad sahi hai par tarika galat aap gaur karenge ki india tv bhi isea galat bolte hua pure serial ko dikha raha tha. aapne bhi india tv jasea hi kaam kiyea hai.bhadas nikalen ke liyea aapne bhi kafi galat rasta chuna.

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) said...

मित्र,
जो भी हो कार्यक्रम के साथ साथ समाचार चैनल भी आनंदित कर रहे हैं, समाचार चैनल आज कल चवन्नी छाप मनोरंजन पड़ोस कर ही लोकप्रियता बढ़ाना चाहते हैं. वैसे भी निकम्मों की फौज से गुणवत्ता तो आने से रही.
जय जय भड़ास