Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

26.8.08

वसुंधरा मैडम के नाम

आदरणीय मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे जी आपको नमस्कार,जय जय राजस्थान। मैं श्री गंगानगर का निवासी हूँ। आज हर वर्ग आपकी जय जय कार करने में लगा है। इसका सबूत है अख़बारों में आ रहे बड़े बड़े विज्ञापन। आपने जो किया उसके बारे में जनता को बताना आपका धर्म है। क्योंकि आप के मंत्री,विधायक आप के किए कार्यों को जन जन तक नहीं पहुँचा सके। आपने तो अपनी ओर से बहुत कुछ ठीक किया मगर हमारे विधायकों ओर मंत्री का क्या करें। अधिक कहना तो सूरज को दीपक दिखाना है। कुछ समय बाद ही चुनाव होने वाले हैं तब आपको पता लग जाएगा कि श्रीगंगानगर जिले के विधायकों ने ऐसा कुछ नही किया जिसके चलते जनता उनको फ़िर से अवसर दे। आपने अगर इन्हीं को मैदान में उतारा तो ये सब के सब हार जायेंगे। आपके इन कर्ण धारों को तो कांग्रेस ही बचा सकती है जो गुट बाजी में उलझी हुई है। आप तो सभी देवी देवताओं के अलख जगाती हो शायद उन्होंने इस बात के संकेत भी दे दिए होंगे। अगर कांग्रेस ने अपने उम्मीदवार जनता की मन पसंद उतरे तो परिणाम इस बार गत चुनाव की तुलना में उलट जायेंगें। आप तो गुजरात की तरह "सारे घर के बदल डालूँगा" सिस्टम अपनाओ , फ़िर देखना क्या होता है। कांग्रेस देखती रह जायेगी। वरना तो बीजेपी की हालत वैसी हो जायेगी जैसी आपके भेजे गए जिला कलेक्टर ओर पुलिस अधीक्षक की है। बेसक ये काम कितना भी करते हों मगर जनता में इनकी कोई छवि नही है।थोड़ा लिखा ज्यादा समझना .

2 comments:

डॉ.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) said...

नारायण...नारायण मुनिवर....
थोड़ा लिखा ज्यादा समझना.....
भगवन अगर हम समुद्र की स्याही और धरती का कगज कर दें तब भी मैडम न मानेंगी न समझेंगी अपनी ही पेले रहेंगी....:)

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) said...

आख़िर मर्दानी जो हैं, और शौक भी नवाबी ही. धन्य हैं मैडम.
जय जय भड़ास