Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

30.8.08

कहाँ गए आप


चुटकी
नज़र में रहे जब तक
सोनिया जी की
आपने खूब किए ठाठ,
नज़र से गिर कर
नटवर जी
कहाँ चले गए आप।
---गोविन्द गोयल, श्रीगंगानगर

1 comment:

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) said...

बेटे का मोह ने कांग्रेस से निकलवाया , चोरी की लत और आदत से मजबूर नेतागिरी के आदि पहुँचे बहन जी के चरण में, वाह रे लोकतंत्र, राजा दलित के चरण वंदन में जुट गया है.
धन्य है हमारा लोक तंत्र.
जय जय भड़ास