Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

30.11.08

Impact: शर्म करो पाटिल आर.आर. पाटिल

Impact: बे-शर्म मंत्री पाटिल आर.आर. पाटिल
महाराष्ट्र का शिखंडी उप मुख्यमंत्री आर.आर. पाटिल देश के सबसे बड़े आतंकी हमले को छोटी-मोटी वारदात मानता है। इस बे-शर्म मंत्री को कौन बताए कि तुम जैसे नेता ही देश के लिए सबसे बड़े आतंकी है। शनिवार को मुख्यमंत्री विलास राव देशमुख के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में इस हिजड़े नेता ने कहा कि 'बड़े शहरों में ऐसे एकाध हादसे होते रहते हैं।' आतंकी बड़े पैमाने पर तबाही मचाने आए थे, लेकिन कामयाब नहीं हो पाए। इस तरह का बयान देकर आर.आर. पाटिल जैसे हिजड़े नेता इस हमले में शहीद जवानों समेत उन तमाम नागरिकों का अपमान किया है, जो इस हमले में अपने प्राणों की आहुति दे गए। यह इस देश का दुर्भाग्य है कि एक हिजड़ा पाटिल केंद्र में कुंडली मार कर बैठा है तो दूसरा हिजड़ा पाटिल मुंबई में। क्या अब मनमोहन सिंह को राष्ट्रीय शर्म दिखाई नहीं देता?

2 comments:

फ़्र्स्ट्रू said...

ये हिजङा नही है साहब इसकी मर्दनगी तो दिवाली के अगले दिन सबने देखी थी. किसी बिहारी युवक ने बहुत बङी घटना कर दी थी मुम्बई मे. उस दिन सीना फुला कर "गोली का जवाब गोली से मिलेगा" जैसा जबर्दस्त मर्दाना बयान दिया था. अब ये जो मुम्बई में आतंकी आये और दो सौ के करीब लोग मर गये, छोटी सी घटना है. ये तो होता रैहता है. इसमें कोई बङी बात नहीं है.

bngiri said...

Bahut Khub Bahiya aapaki baaton me deshbhakti jhalakti hai.Appne jis tarah ki bhasha ka istemla kiya hai usase pata Cahlta hai ki desh me Mumbai ke hamlon ke baad kitna gussa hai.Likhater raho aur netaon ki bajate raho.