Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

21.7.09

...यह कैसी मनमानी

देश के पूर्व राष्ट्रपति महामहिम ए पी जे अब्दुल कलाम की दिल्ली के एअरपोर्ट में जाँच किया जन, हर द्रिस्टी से निंदनीय है। जिन्होंने देश को मिसाईल खोज कर दिया और जनता के बीच अपनी रास्ट्रपतित्व काल में जितनी प्रसिद्दि पाए, यह किसी से छिपी नहीं है।
ऐसी गिरी हुई हरकत एक बार भी अमेरिकी विमानन कंपनी ने की है। ख़ुद की धरती में एक ऐसे महँ व्यक्तित्व की एअरपोर्ट में जाँच की जाए। यह किसी भी स्थिति में माफी लायक नहीं है। नागरिक उड्डयन मंत्री प्रफुल पटेल ने भले ही जांच के आदेश दे दिए हों, लेकिन यह पर्यत नहीं। ऐसी शर्मनाक गलती कराने वाली अमेरिकी विमानन कंपनी के खिलाफ कड़ी कारवाई होनी चाहिए। जिस व्यक्तित्व से पूरे देश को प्रभावित हैं। उनके साथ इस ढंग से हरकत किसी सूरत में माफ करने लायक नहीं है। इस दिशा में सरकार को कंपनी के खिलाफ कारवाई करनी चाहिए।
सबसे बड़ी बात यह है की वह कंपनी अमेरिका की है।
कई वर्ष पहले अमेरिका में देश के मंत्रियों की जाँच की गई थी। एक बार फिर एक अमेरिकी कंपनी द्वारा ओछी हरकत की गई। महामहिम की जांच निंदनीय है।

2 comments:

क्षितिज said...

शर्म...शर्म....शर्म...शर्म...शर्म......

शंकर फुलारा said...

sahi likha hai is vishay par tensionpoint.blogspot.com bhi dekhen.