Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

24.7.11

अलसी गुरू डॉ. ओ.पी.वर्मा को नमन

देश-विदेश में विख्यात अलसी के स्टार-प्रचारक आदरणीय डॉ. ओ.पी.वर्मा ने अपने लेखों, टी.वी. कार्यक्रमों और चेतना-यात्राओं के माध्यम से जो अलसी की फसल बोई है, उसकी सुगंध अब पूरे देश में फैल गई है, हर तरफ अलसी के नीले फूलों की छटा छाई हुई है, जिधर देखो उधर लोग अलसी से चमत्कारी स्वास्थ्य लाभ उठा रहे हैं। पूरे देश से लोग इन्हें ढेरों फोन करते है। लोगों की अच्छी अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है।
इनकी संस्था फ्लेक्स अवेयरनेस सोसाइटी (अलसी चेतना यात्रा) के पिछले कई वर्षों से अलसी के बारे में जागरूकता लाने के लिए निरंतर प्रयास कर रही है। इस संस्था के अन्य प्रमुख उद्देश्य हैं।
1. लोगों को ट्राँसफैट युक्त वनस्पति घी (डालडा) और रिफाइन्ड तेल से स्वास्थ्य पर होने वाले घातक प्रभावों के बारे में लोगों को बताना और इनको प्रतिबंधित करवाने के लिए प्रयास करना।
2. जैविक खाद्य पदार्थों के उत्पादन, उपयोग को प्रोत्साहन देना और लोगों को जैविक खाद्य पदार्थों के लाभ समझाना।
3. खाद्य पदार्थों में मिलावट, जो देश की सबसे गंभीर समस्या है, के बारे में लोगों को जानकारी देना। मिलावट रोकने के लिए सम्बंधित विभागों से सामंजस्य रखते हुए कार्यवाही करना।
4. लोगों को स्वास्थ्य की संपूर्ण जानकारी देने के उद्देष्य से एक स्वास्थ्य-पत्रिका का प्रकाशन करना।
5. कोटा में देश-विदेश के रोगियों को उच्च स्तरीय प्राकृतिक और आयुर्वेदिक चिकित्सा उपलब्ध कराने हेतु विशाल हर्बल पार्क विकसित करना।
6. सब जानते हैं कि आजकल कैंसर उपचार के लिए दी जाने कीमोथैरेपी एवं विकिरण चिकित्सा चिकित्सालय भारी कीमत वसूलते हैं। फिर भी कुछ ही रोगियों को लाभ मिलता है। कभी कभी तो उनकी मृत्यु तक हो जाती हैं। गाँवों के गरीब लोग जमीन बेचकर, कर्जा लेकर अपने परिजनों के कैंसर का उपचार कराने शहर आते हैं और लाखों रूपये खर्च करने के बदले उन्हें अपने परिजनों की मौत के सिवा कुछ नहीं मिलता है।
अलसी के तेल, पनीर तथा कैंसर रोधी फल व सब्जियों से विकसित किया हुआ डॉ. बुडविज आहार-विहार (जो क्रूर, कुटिल, कपटी, कठिन और कष्टप्रद कर्करोग का सस्ता, सरल, सुलभ, सुरक्षित और संपूर्ण समाधान है) कैंसर के रोगियों को उपलब्ध करवाने हेतु पूरे भारत में बुडविज प्रोटोकोल कैंद्रों का निर्माण करना।
हम तन, मन और धन से डॉ. ओ.पी.वर्मा के साथ हैं और चाहते हैं कि अलसी-चेतना देश के हर घर में पहुँचे और डॉ. ओ.पी. वर्मा का भारत को स्वस्थ और सम्पन्न देश के रूप में विकसित करने का सपना पूरा हो सके। मैं आप सभी से आव्हान करता हूँ कि आप भी इस नेक कार्य में डॉ. ओ.पी.वर्मा से जुड़ें।

डॉ. मनोहर भण्डारी,
एम.बी.बी.एस., एम.डी.
डिप्लोमा इन योग एंड नेचुरोपैथी, रैकी प्रथम डिग्री
सहायक प्राध्यापक, फिजियोलॉजी
नेताजी सुभाषचन्द्र बोस आयुर्वेदिक महाविद्यालय जबलपुर
मोबाइल - 094250-32324, ई-मेल: drmbhandari@gmail.com



3 comments:

Anonymous said...

डॉ. मनोहर भंडारी जी,
हम तन, मन और धन के साथ डॉ. ओ.पी. वर्मा के साथ हैं।
हम अलसी को भारत के हर नागरिक तक पहुँचायेंगे।

मंजू मिश्रा

I and god said...

बात केवल अलसी की नहीं है .

एलोपथिक डा होकर भी , भरात की जनता को सस्ते , सुलभ , रामबाण इलाज देना.

दोनों डाक्टरों वर्मा एवं भंडारी जी को कोतिषा नमन

अशोक गुप्ता
दिल्ली

अल्पना वर्मा said...

डॉ. ओ.पी. वर्मा का भारत को स्वस्थ और सम्पन्न देश के रूप में विकसित करने का सपना पूरा हो सके।
--इस में हमारा भी स्वर शामिल करें .
ईश्वर उन्हें उनके प्रयासों में पूर्ण सफलता दे.
हार्दिक शुभकामनाएँ,