Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

18.1.12

अपने को हिन्दू कहने में

अपने को हिन्दू कहने में बोलो शर्माना कैसा ?

रहे सहिष्णु सदा विश्वहित के अपने अरमान रहे ,
औरों के मजहब का अपने सा करते सम्मान रहे ।
अपना नाम बताने में प्यारे फिर सकुचाना कैसा ?
अपने को हिन्दू कहने में बोलो शर्माना कैसा ?

2 comments:

I and god said...

क्योंकि इस देश में , कांग्रेस के अनुसार , हिंदू होना सांप्रदायिक है , एक गाली है .

Dr Om Prakash Pandey said...

yah bilkul sahee kahaa aapne bas hindu shabd ko hee sampradaayik maanate hain log .