Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

8.2.12

जो भारत माता का रेप कर रहे हैं, उन से बुरा काम तो इन बेचारों ने नहीं किया .


       

जो भारत माता का रेप कर रहे हैं, उन से बुरा काम तो इन बेचारों ने नहीं किया .


ये बेचारे तो इन्द्रियों के गुलाम हैं , और अपने कृत्य पर शर्म भी आयी , 


पर इन सरकारी दामादों  का तो शर्म से भी वास्ता नहीं है 


कहते हैं , हम तो बड़े भोले हैं , जो पहली सरकार कह गयी , हम तो उसका हुक्म ही बजा रहे थे, 


हिन्दुओ जागो , मुसलमानों से उतना खतरा नहीं है , जितना इन भारत माता के बलात्कारीओं से है .


 
देखो इनके चेहरे ! है शर्म का कोई निशाँ 
the big rapist of the country:
chidambaram, raja, sibbal, and whole gandhi government including man mohan singh.

2 comments:

I and god said...

अशोक जी ,




आपसे प्रार्थना है कि इस शीर्षक को तुरंत बदल दे .यह शीर्षक


''भारत माता ''की गरिमा को तो चोट पहुंचा ही रहा है साथ


भारत ke करोड़ों देश- प्रेमियों को भी आहत कर रहा है जो माता

की आन पर प्राण देने के लिए हर पल तैयार हैं .






''जो भारत माता का रेप कर रहे हैं, उन से बुरा काम तो इन बेचारों ने नहीं

किया ''

शिखा कौशिक
[bhartiy nari ]
posted by शिखा कौशिक at 1:46 PM on Feb 9, 2012

I and god said...

माननीय शिखा जी ,

में किसी कि भावना को आहत नहीं करना चाहता.

पर सोचिये , आपको शीर्षक ही आहात कर रहा है , और वो ये काम वास्तव में कर रहे हैं.

भारत जैसे देश में जहाँ २५ करोड़ लोगों के पास पिने का पानी नहीं वहां लाख करोड़ खा कर भी मस्त फोटो खिंचा रहे हैं ,

एक अकेला डा स्वामी लगा है , जिसकी जान के पीछे सारी सरकार के गुंडे पड़े हैं .

क्या शीर्षक बदलने से वास्तु स्थिति बदल जायेगी.

और आपको बुरा लगा, पर अधिकतर जनता को एसी ख़बरों से कोई सरोकार नहीं ,

में आपसे क्षमा प्रार्थी हूँ ,

कोई ऐसा शीर्षक सुझा दें जिससे इस तथ्य को कहा जा सके ,

में आपका अति आभारी रहूँगा

अशोक गुप्ता