Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

11.1.16

राज्यसभा टीवी के नए कलेवर का अनावरण

हामिद अंसारी ने किया राज्यसभा टीवी के नए कलेवर का अनावरण



उप राष्ट्रपति मोहम्मद हामिद अंसारी ने विज्ञान भवन में राज्यसभा टीवी के नए कलेवर का अनावरण किया। इस कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि देश में अभी भी अंधविश्वास और कुरीतियां हैं,जिन्हें दूर करने में विज्ञान और मीडिया बड़ी भूमिका निभा सकते हैं। उपराष्ट्रपति ने देश में विज्ञान प्रसार के लिए नया टीवी चैनल लाने पर ज़ोर दिया।


इस मौके पर उपराष्ट्रपति  ने विज्ञान से जुड़ी ‘मोमेंट्स ऑफ यूरेका’ और साइन्टिफिकली योर्स नाम की पुस्तकों का विमोचन भी किया...ये पुस्तकें राज्य सभा टीवी के विज्ञान पर आधारित यूरेका कार्यक्रम में शामिल वैज्ञानिकों के साक्षात्कार पर आधारित है । कार्यक्रम में सांइटिफिक टेम्पर पर परिसंवाद भी हुआ, जिसमें कई मशहूर वैज्ञानिकों ने हिस्सा लिया।

नोबेल पुरस्कार से सम्मानित प्रो आर वेंकटरमन रामकृष्णन ने भारतीय भाषाओं में विज्ञान को बढ़ावा देने पर जोर दिया। परमाणु ऊर्जा आयोग के पूर्व अध्यक्ष अनिल काकोड़कर ने तकनीक के बेहतर इस्तेमाल की वकालत की।

वैज्ञानिक प्रोफेसर इंदिरा नाथ ने तार्किकता को जरूरी बताया। वहीं प्रोफेसर आर गडगकर ने वैज्ञानिक और गैर वैज्ञानिकों के बीच अंतर खत्म करने की बात कही। इस मौके पर राज्यसभा टीवी के सीईओ गुरदीप सिंह सप्पल ने कहा कि विज्ञान, कला और संस्कृति के क्षेत्र में राज्यसभा टीवी ने अपने शुरुआत से ही काफी काम किया है और आगे भी इस दिशा में काम करता रहेगा।

उन्होंने कहा कि राज्यसभा टीवी समाज में विज्ञान के क्षेत्र में जागृति फैलाने के लिए आर्य भट्ट, होमी जहांगीर भाभा जैसे मशहूर वैज्ञानिकों पर फ़िल्म भी बना रहा है। राज्यसभा टीवी के कार्यकारी निदेशक राजेश बादल ने समारोह में आए वैज्ञानिकों और श्रोताओं का आभार जताया। उन्होंने कहा, समाज में वैज्ञानिक चेतना के लिए राजयसभा टीवी काम करता रहेगा।

Post a Comment