Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

15.3.17

अंधेरे की तरफ बढ़ रहा है भास्कर समूह....

पत्रकारिता के क्षेत्र में नंबर वन अखबार समूह होने का दावा करने वाला दैनिक भास्कर समूह में वो प्रकाश नजर नहीं आता जिसके लिए वो जाना जाता है...देश के प्रतिष्ठित मीडिया समूहों में शामिल भास्कर ग्रुप की खबरों का दिनों दिन स्तर गिरता ही जा रहा है..प्रिंट मीडिया में देश में अपना स्थान बना चुका ये समूह अब अपने पाठकों के साथ न्याय नहीं कर रहा है...पाठकों के लिए खबरों की जगह साज सज्जा और डिजाइन से भरा अखबार तो परोस ही रहा है लेकिन हद तो ये है कि पेपर में खबरें कम और विज्ञापन ज्यादा होते हैं..कभी-कभी तो हद होती है जब अखबार के पन्नों में खबरों को ढूंढना पढ़ता है...





खैर ये मजबूरी तो तब भी समझ में आती है जब अखबार के खर्चों को चलाने के लिए विज्ञापन की मजबूरी हो लेकिन जो शर्मनाक हरकत पर भास्कर डॉट कॉम उतर आया है वो कोई मजबूरी नहीं बल्कि पत्रकारिता पर तमाचा है...आज दिनांक 03 मार्च 2017 को भास्कर डॉट कॉम को जैसे ही खबरों की अपडेट जानने के लिए ओपन किया वैसे ही स्क्रीन पर अश्लील विज्ञापन दिखने शुरू हो गए..सबसे पहले अंडरगारमेन्ट्स के विज्ञापन से ही आपका स्वागत होता है जो आपके देखने में एकदम अटपटा से लगता है ...खबरों को जब और खंगाला गया तो नीचे तो हद ही हो गई पूरी की पूरी पोर्न मूवी की क्लिप जो एकाद सेकंड का वीडियो होगा स्क्रीन पर बार बार प्ले हो रहा था...वीडियो देखकर एक बार भी किसी को ये आभास नहीं होगा कि ये किसी समाचार पढ़ने के लिए खोली गई साइट है...

सबसे बड़ी बात ये है कि आप इसे घर में या सहकर्मियों के सामने नहीं खोल सकते क्योंकि देखने में कोई भी असहज हो सकता है..हांलाकि आज के इंटरनेट और स्मार्ट फोन के समय में ये सारी बातें किसी से अऩजान नहीं हैं लेकिन ये बहुत ही व्यक्तिगत है कि कौन इसे देखना चाहता है और कौऩ नहीं...दूसरी बड़ी बात ये है कि ये विज्ञापन सिर्फ स्क्रीन पर ही नहीं बल्कि खबरों पर क्लिक करने के बाद बीच में भी दिखाई दे रहा है..मसलन अगर प्रधानमंत्री की खबर पढ़ने के लिए खबर को ओपन किया गया तो उसमे में भी दो पैराग्राफ के बीच में वो वीडियो अपनी गति से चलता हुआ दिखाई दे रहा है..जिसे देखकर आप खुद को शर्मसार महसूस करेंगे और तुरंत ही वहां से हट जाएंगे..अब सवाल ये है कि इस तरह की बेवसाइट को क्यों ने एडल्ट कन्टेन्ट देने वाली लिस्ट में डाल दिया जाए.फिर आप खुलकर ऐसे वीडियो डालिए और पाठक दर्शक खुलकर इसे देखेंगे ..हां फर्क ये रहेगा की जो देखने चाहे वहीं देखेगा आप जबरक किसी को दिखा नहीं पाओगे...साहब अंधेरे में मत जाइए भास्कर नाम को सार्थक करिए....

अहमदाबाद से पत्रकार चैतन्य जैन
chetanjain87@gmail.com

3 comments:

Vishal Vyas said...

To , यशवंत सिंह

मैं आप सब रीडर्स को बता दू के ये वेबसाइट पे एड नहीं है बल्कि जिसने ये पोस्ट शेर किया है उसका ब्राउज़र में ही वायरस है। . आप पोस्ट करने से पहले सोच लिया करो भाई ,,,, ये एक मालवेर है जो उसके ब्राउज़र के एक्सटेंशन में इनस्टॉल है जिसका नाम है "Random Maze" .... कोई अच्छे आईटी वाले से चेक कराओ और फिर पोस्ट करो....



Thanks,
Vishal Vyas
Hacker, System admin
Ahmedabad- 9978839723

Anonymous said...

Chaitanya Bhai, aisa isliye hota hai ki yeh Ads aapke browsing pattern ke hisaab se display hota hai. Iska matlab yeh nahi hota hai ki bhaskar ne play kiya hua hai. Just like Nitish ka Ad pakistan ke newspaper ke site pe chal raha tha. Unhone wahan nahi lagaaya tha par hamare browsing pattern pe woh hamein dikh raha tha.

Jahan tak add ki baat hai toh main aapse agree karta hun ki bhaskar hi nahi lagbhag saare portals pe ads se sabhi pareshan hai.

Santosh Joshi said...

अगर ऐसा pop-up Kabhi atta hai to pop-up blocker install kar lay vo sab adult pic ko block kar dega. Ya koi malware antivirus install kar kay system ko scan kar lay...fir nahi ayega rahi baat bhaskar ki un ki website say nahi aap koi bhi website open karogey to ye pop-up sab par a jata hai...