Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

18.6.09

प्रसिद्दि पाना हे तो मीडिया की सरण लो

हमारे देश में लोग प्रसिद्दि पाने के लिए क्या क्या नही करते पर वर्तमान में जिसको भी प्रसिद्दि चाहिए उसे मीडिया की सारण में जाना चाहिए .मीडिया जिसे चाहे उसे बुलंदी पर पंहुचा सकता हे .जिसमे इलेक्ट्रॉनिक मीडिया तो लाइव कवरेज और टी.र.प.के चक्कर में तो पता नही कितना आगे निकल गए हें.शायनी आहूजा के केस में भी कुछ यही हुआ ,नोकरानी से बलात्कार के मामले में इलेक्ट्रोनिक मीडिया ने उसे इतना पोपुलर बना दिया की जो लोग पहले उसका नाम भी नही जानते थे वे सभी आज उसे अच्छी तरह जान गए हें.सामाजिक दयित्यो को भूलकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया कम करता हें और अपने स्वार्थो के लिए जिसे चाहे उसे ऊपर उठा सकता हें.लोकसभा चुनावो में वरुण घंधी के मामले में भी एलेक्ट्रोनी मीडिया ने ग़लत तरीके से वरुण घंधी को लगातार टी.व् पर दिखाकर रातो रात हिन्दुओं का हीरो बना दिया .मेरा अनुरोध हे की सभी को मिलकर इसके खिलाफ आवाज उठानी चाहिए.

3 comments:

alka sarwat said...

मैं आपसे सहमत हूँ और इस मुहीम में आपके साथ भी

AlbelaKhatri.com said...

lekin dada,
aawaz uthaayenge toh ve aur zyada populer nahin ho jaayenge..........?
behtar toh ye hai ki unhen avoid kiya jaaye aur jo kuchh sakaaratmak ho raha hai uska prachaar prasaar adhik kiya jaaye
vaise mera vote aapke saath hai, jahaan kahoge, daal doonga
sahi vishya par sateek aalekh k liye badhaai !

दिल दुखता है... said...

main apke sath hun... lekin media unke khilaf fir kaise dikhaye... unke bare mein batana bhi to jaruri hai ki ye log is prakar se galt kar rahe hai...