Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

19.4.11

अमर सिंह प्रकट हुए हैं देखा आप लोगो ने ?

 भाइयो और बहनों, देख रहे हो अनेकता में एकता का उदाहरण ? देख रहे हो कैसे सारे राजनैतिक दल एक जुट हो गए हैं ? अमर सिंह कैसे और कौनसी गुफा से बाहर निकल कर प्रकट हुए हैं देखा आप लोगो ने ? मुलायम सिंह ने जब अपने प्रिय अमर सिंह को बाहर का रास्ता दिखाया और जया प्रदा  ने भी इनको दुत्कार दिया , अमिताभ जी और जया जी ने भी इनसे किनारा कर लिया और अम्बानी बंधुओ के साथ भी इनकी दाल गलनी बांध हो गयी तो यर नया सगुफा लाये हैं अपनी राजनीती की दूकान चमकाने को / अमर सिंह जैसे अवसरवादी और घटिया व् भ्रष्ट राजनीती करने वाले लोगो का अंत आ गया हैं / देश की जनता इस तरह के चालबाज और तुच्छ राजनीती खेलने वालो को बहुत अच्छी तरह पहचानने लगी हैं / और अमर सिंह तो हमेशा से कार्पोरेट जगत के गुलाम रहे हैं / भ्रस्टाचारी बौखला  गए हैं , उन्हें जन लोकपाल बिल के रूप में अपना काल नजर आने लगा हैं / इसलिए दिग्विजय सिंह जी को अपने सारे पाप याद आ रहे हैं और घबरा कर अनर्गल वार्तालाप कर रहे हैं / बौरा गए हैं सारे भ्रष्ट नेता / 

कुछ लोग सामने से इस खेल में खेलना नहीं चाहते वो लोग शांत बैठकर अपने मोहरे चल रहे हैं / दोस्तों अब वक़्त आ गया हैं इन मोहरों को पहचानने का , इनके आकाओ को पहचानने का / जन लोकपाल बिल ही नहीं हमे राईट टू रिजेक्ट और राईट टू रिकाल भी चाहिए / पत्रकार भाइयो और बहनों, आजादी की लडाई में  आप लोगो का सहयोग जग जाहिर हैं और अभी तक के भ्रस्टाचार के विरुद्ध युद्ध में आपको लोगो का सहयोग अतुलनीय हैं  / आप लोगो से विनती हैं देश हित में ये सहयोग बनाये रखे और जो एक दो पत्रकार या समाचार पत्र जो अपनी रोटिया सेकने में लगे हैं उन्हें अपना काम करने दे और हम देश को भ्रष्टाचार मुक्त करने की अपनी मुहीम में आगे बढ़ते रहे / 

2 comments:

अनुशासन said...

yad nahi jab jab adharm ki hani hoti hai aur dharm sir uthata hai to bhrashton ke utthan aur dharmiyon ke vinash ke liye yugon yugon tak kaun ata hai???? kaun prakat hota hai??
agar ap ye nahi jante to bhadas per likhne ka apko koi adhikar nahi hai....

तीसरी आंख said...

आप बिलकुल ठीक कह रहे हैं जनाब