Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

30.8.08

मेरे भाई तुम कहाँ हो ...


मेरे भाई तुम कहाँ हो ...
जल्दी लौट आओ ....

दोपहर दो बजे तक का डेवलप मेंट ये है ...

chhindwara के kundipura thane और

उमरानाला थाने में एफआईआर लिखा दी गई ...

जीआरपी पुलिस को भी ख़बर कर दी गई है ...


इसके अलावा नागपुर की तरह कुछ लोग देखने गए है

...बाकी सभी जगह ... रिश्तेदारी में खोजा जा रहा है ...

फ़िर भी कुछ पता नहीं लग पा रहा है ...


रामधन कहाँ चला गया होगा ...

रामधन तुम कहाँ हो ...

बस यहीं सवाल सभी के मन में है ...


मेरा भाई ...दीदी को घर पहुँचाने 28 tarikh ko chhindwara गया था

...जीजाजी ने उसे 29 tarikha ko dophar 2.45 par chhindwara स्टेशन पर छोड़ा पर ...

वह घर नहीं पहुँचा ....

कहाँ गया होगा वह ...


घर में माँ और अशोक भइया ... भाभी ... सब परेशान है

...दीदी - जीजाजी , मामा लोग और दोस्त लोग ...

अनिमेष भाई सब परेशान है ...


और मैं यहाँ परेशान हूँ ...

कहीं कोई ऐसी - वैसी बात नहीं हुई ...


फ़िर अचानक कहाँ चला गया रामधन ...


रामकृष्ण डोंगरे +91-9873074753

3 comments:

डॉ.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) said...

अरे भाई भड़ासियों जरा सक्रिय तो हो जाइये सब लोग भाई को तलाशने में.... और जैसे ही मिले तो बताइये....

Chhindwara chhavi said...

dr. saahab aapka dhanvaad ...
aapkne kaha...

अरे भाई भड़ासियों जरा सक्रिय तो हो जाइये सब लोग भाई को तलाशने में.... और जैसे ही मिले तो बताइये....

प्लीज़ भाई जी ... मेरी मदद करो ....

रोज कई ख़बर बनाता हूँ ....
मगर आज
मेरा प्यारा छोटा भाई
राधेश्याम डोंगरे( रामधन)
ख़ुद ख़बर है
...और मैं ख़बर बना रहा हूँ ...


ramkrishna dongre

Unknown said...

तमाम भडासी से अनुरोध और निवेदन की डोंगरे भाई के भाई के बारे में अगर सुचना उपलब्ध हो तो अवगत कराएँ, भाई परेशान है.