Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

21.4.08

कैसे लिखें हिंदी




किसी कंप्यूटर में जो विंडो एक्सपी से पीछे का संस्करण नहीं हो हिंदी भाषा को सक्रिय किया जा सकता है...उसके बाद इनस्क्रिप्ट की बोर्ड में हिंदी लिखी जा सकती है.... इनस्क्रिप्ट सबसे आसान और वैज्ञानिक की बोर्ड है जिसे कोई भी नया आदमी आधे घंटे में कंप्यूटर पर हिंदी लिखना शुरू कर सकता है...इस की बोर्ड का लेआउट चार्ट देखने के लिए इस लिंक पर जाएं....वैसे यह की बोर्ड इतना आसान है कि बिना ले आउट चार्ट के भी आसानी से याद किया जा सकता है...क्योंकि इसमें क वर्ग...च वर्ग, आदि एक ही की के आसपास हैं....
http://www.bhashaindia.com/Developers/IndianLang/Typingdnagari/dnpages.aspx
जब अपने कंप्यूटर पर हिंदी में सक्रिय करते हैं तो आपके कंप्यूटर में नीचे के बार में एक एक आप्सन बन जाता है...आल्ट शिफ्ट की दबा कर हिंदी और फिर अंग्रेजी में जाया जा सकता है....
ब्लाग लिखने वाले..अपने कंप्यूटर में हिंदी भाषा सक्रिय करें....उसके बाद वर्ड पैड में मजे से हिंदी में कुछ भी लिखते रहें...जब आन लाइन हों तो ब्लाग के विंडो में कापी पेस्ट कर दें...अगर आप किसी साइब कैफे में नियमित बैठते हैं वहां किसी एक सिस्टम पर हिंदी भाषा सक्रिय करवा लें....इस पद्धति में दुनिया के किसी भी कंप्यूटर पर पांच मिनट में हिंदी भाषा को एक्टिवेट किया जा सकता है...बस इसके लिए आपका पीसी विंडो एक्सपी की सीडी मांगता है....कुछ फाइलें कापी करता है और फिर रिस्टार्ट के बाद तैयार हो जाता है...हिंदी विकल्प के साथ....
- विद्युत प्रकाश मौर्य

6 comments:

यशवंत सिंह yashwant singh said...

शुक्रिया विद्युत भाई, इस जानकारी के लिए। इससे ढेर सारे नए लोगों को लाभ मिलेगा।

Anonymous said...

भाई साहब, ये बात तो कंप्यूटर का इस्तेमाल करने वाले बच्चे बच्चे को मालूम है....आश्चर्य है की ये बात आपको आज मालूम हुई है....कोई नई बात बताईये......

रजनीश के झा said...

अनाम भाई मुझे नही मालूम था , वैसे आपको पता होना चाहिऐ कि कंप्यूटर पे जो बच्चा बच्चा बैठता है वह आपकी तरह हिन्दी पत्रकार नही होता और उसे इनकी जरूरत ही नही पड़ती,
और मुझे जैसी नौनिहाल को जिसकी मदद के लिए ये जानकारी आयी विद्युत भाई को शुक्रिया और अनाम भाई आपसे भी निवेदन है, हम ठहरे नेना भुटका सो इस तरह कि जानकारी हो तो आप भी बताते चलें।

जय जय भडास

डॉ.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) said...

विद्युत भाई,ये सज्जन या सजनी जिनका माता-पिता नाम रखना भूल गये बताए हैं कि ये बात बच्चा तक जानता है तो बस वही बच्चा जो डिजिटल तरीके से पैदा हुआ होगा और हम लोग तो देसी हैं न? जानकारी उपयोगी है...

अबरार अहमद said...

जानकारी के लिए शुक्रिया। बहुतों को लाभ होगा।

anahat said...

Vidut Balak Kahan ho aajkal. Hum Jansatta akhbaaar me hoon Bhaiyaa. dilli me. bujhe. Adarsh-
mail me.