Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

13.3.08

यह हमला हम सब पर हुआ है

यह हमला केवल यशवंत भाई पर नहीं, हम सब भडासियों पर हुआ है। इससे लिए हम सबको आगे आना होगा। आइये हमलावरों को हम सब अपने सूत्रों से ढुढने की कोशिश करें ताकि इनको उचित सबक सीखाया जा सके। इस नापाक करतूत को यहीं खत्म करना होगा ताकि आगे किसी और भडासी साथी के साथ ऐसा न हो सके। यशवंत भाई के साथ हम सब भडासी हैं। वह जल्द ठीक हो जाएं ईश्वर से यही दुआ है। सभी भडासी साथियों से अपील है कि इस नापाक हरकत के खिलाफ आगे आएं।

1 comment:

मुनव्वर सुल्ताना said...

बस एक ही तरीका है कि हम बौखलाए बिना अपना काम करते रहें अधिक मज़बूती से जिससे इन खन्तीर की औलादों को ऐसे ही जुलाब होते रहें ,ये डर गये हैं मेरे भाई इस लिये और लिखो । आप एक चीज देखो कि ब्लागवाणी पर अब तो डा.साहब की भड़ास पर लिखी पोस्ट भी नहीं दिखती इससे जाहिर नहीं होता कि विरोधियों के खेमे में खलबली मची है । बस ऐसे ही इन खुजली वाले कुत्तों को स्याही से नहलाते रहो ताकि इनके बदन की खुजली मिट सके वैसे तो लातों से भी खुजली मिटाई जा सकती है पर अपना भड़ासियाना रास्ता वो नहीं है(इसका ये मतलब नहीं कि हम पलट कर मारेंगे नहीं इन पर इस गलती के लिये रहम किया जा सकता है क्योंकि अगर भड़ासी मारने पर आये तो सुअर मर जाएंगे)
भड़ास ज़िन्दाबाद