Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

19.8.09

रामदेव बोले- एक वेश्या दूसरी अभिनेत्री अंतर क्या है?

एक वेश्या दूसरी अभिनेत्री अंतर क्या है? न..न.. यह मेरी भड़ास नहीं है भाई ये उन्नत कोटि की शाब्दावाली है- मूलरूप से हरियाणा के गाव अलीपुर निवासी रामकृषन यादव उर्फ़ रामदेव बाबा की. हालाकि अब वह कहते है की मुझे यादव शब्द पर आपति है क्योकि वह किसी जाती गाव या प्रांत के प्रतिनिधि नहीं बल्कि सत्य के प्रतिनिधि है. स्वामी रामदेव बाबा पता नहीं क्यों विवादों के तुफानो से लड़ते रहते है. या फिर एसा कहा जाये की उनकी जुबान रपट जाती है. उनकी बाते भी तेजी से योग करती नज़र आती है. हाल मे "द सन्डे पोस्ट" अख़बार को दिए बयान मे उन्होंने कहा है उन्ही के सब्दो मे-"अंतर क्या है पेसै के लिये एक कोठे मे बैठकर अपने शरीर को बेचती है एक सैट और पर्दे पर बैठकर सील और शरीर को. अंतर क्या है? नाम का ही तो अंतर है. एक को वेश्या कहते है दूसरी को अभिनेत्री अंतर क्या है? खाली नाम का अंतर है. अपने एक और बयान पर वह वाराणसी के संतो से माफ़ी मांग चुके है, समलेंगगिगता पर बहस भी वह कर चुके है. कहना ही पड़ेगा की स्वामी जी अपनी जबान को फिसलने से रोको भला एक बाबा का विवादों से क्या नाता? आप तो अरबपति सन्यासी है. सन्यास तो समाज से दूर करता है लेकिन आपका सन्यास तो समाज से जुड़ा हुआ है. नितिन सबरंगी

7 comments:

Anonymous said...

आपकी बात से असहमत..बाबा करोडपति नही अरबपति हैं. गल्ती सुधारने की कृपा करें. धन्यवाद

Unknown said...

sanyasi hone ka ye matlab bilkul nahi aapka samaj se utardayitva khatm ho jata hai... manta hun baba ki kahi baatein kuchh katu hoti hai... par un mein thodi sachchayi bhi hai...

ARCHANA MAHTO said...

Babi ji agar vaishya aur abhinetri mai koi antar nahi tu apke aashram mai malika sherawat kai agaman par jo aavbhagat hote hai wo kisi vaishya kai aane par kyu nahi nazar aate...jab aap he in dono mai antar nahi kartai...tu apnai dhohrai gyan sai samaj ko kyo bharmit karte hai...dosro kai chritra mai khot khozne ki bazai...vichro ko vayyam dai...

ओम आर्य said...

mai bhee abhishek prasaad ki baato se sahamat hoo

Everymatter said...

spritualism is a big industry especially in india

many babas are playing in pool of money

Unknown said...

Baba ki baat bilkul sahi hai.
ye kya baat hui ki Daaud Ibrahim sari abhinetriyo ko bula kar apne ghar nachata hai to aaiyashi aur Subrato Rai Sahara apne ghar Bula kar nachata hai ti BHATAT PARV. Vaaaah Bhai Vaaaah!!!!!!!

Unknown said...

Baba ki baat bilkul sahi hai.
ye kya baat hui ki Daaud Ibrahim sari abhinetriyo ko bula kar apne ghar nachata hai to aaiyashi aur Subrato Rai Sahara apne ghar Bula kar nachata hai ti BHATAT PARV. Vaaaah Bhai Vaaaah!!!!!!!