Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

29.9.10

कबीर के दोहे, कॉमनवेल्थ खेल के परिप्रेक्ष्य में..

साई इतना दीजिये, जितना कलमाडी खाय !
सात पुश्त भूखी ना रहे, कोई चिंता नही सताय !!

गिल कलमाडी दौऊ खडे, काके लागू पांय !
बलिहारी मै दौऊ पर, भट्टा दिया बिठाय !!

लूट सके तो लूट ले, वेल्थ खेल की लूट !
पाछे फिर पछ्तायेगा, फिर नही मिलेगी छूट !!

गिर गया तो क्या हुआ, पुल था थोडा कमजोर !
चिंता काहे की करनी, माल तो लिया बटोर !!

चाह मिटी, चिंता मिटी, मनवा बेपरवाह !
माल तो अंदर कर लिया, भरते रहो सब आह !!

6 comments:

यशवंत सिंह yashwant singh said...

आपकी इस रचना को मैंने पसंद किया और फेसबुक पर डाला तो ढेरों कमेंट आए हैं, कुछ ही घंटों में इसे 17 लोगों ने पसंद किया. देखिए..

Sushant Jha, Sanjay Sharma, Ravi Kumar Bishnoi and 17 others like this.

*Dr.Gurmeet Narang kalmaadee ki tasveer laga lijiye taaki aap use bhool na paye , kyuki hamaare yaha log shor machaakar bhool jaate hai thode dino me...
about an hour ago · LikeUnlike

*Abhay Tripathi बहुत खूब सर जी... एक दम सटिक बैठ रहा है
about an hour ago · LikeUnlike

*Yashwant Singh दोस्तों, ये भड़ास ब्लाग पर किशोर जी ने पोस्ट की है. रचना उनकी है. मैं भी प्रसन्न हूं इसे पढ़कर. बढ़िया लिखा है किशोर बर्थवाल जी ने.
about an hour ago · LikeUnlike

*Poonnam Dawar v true yashwant ji.. bt upto some extent media also portrayed wrong picture of cwg arrangments which made others also to comment bad without seeing reality.....which ws wrong part....no gud arrangements not a single channel shown,,,,,,,,,,,,,,,,,,,then why running after the ministers where we know n knew it their desires n requirements......
about an hour ago · LikeUnlike

*Amit Singh Deo Bahut hi achcha likha.
about an hour ago · LikeUnlike

*Anu Rag
Baba baba kalmadi baba

hav u any shame,

no sir sir v r hosting d common loot games!
...
crores for my partners

crores for d dame!

crores for me too for putting india to shame!See more
about an hour ago · LikeUnlike · 1 personAnu Rag likes this.

*Ashish Jha Bahut hi achcha likha.
56 minutes ago · LikeUnlike


*Khushi Bhatnagar gr8...
37 minutes ago · LikeUnlike


*Ravi Kumar Bishnoi gud 1 ...........
31 minutes ago · LikeUnlike

*Narendra Charatkar kya bat hai........
10 minutes ago · Like

ALOK KHARE said...

bahut khoob kaha aapne


i hv written somwthing in kaka ji form pls hv a look

देश का बंटाधार................
दुनिया थू थू कर रही, मचा रही हे शोर
कलमाड़ी बाबा चुप हैं, मन अंदर से चकोर

मन अन्दर से चकोर, चिल्लाओ जितना प्यारे
सत्तर पुश्ते सुधर गयी, हो गए वारे न्यारे

हो गए वारे न्यारे, ये हे CWG कि माया
इस भ्रम में मत रहो,अकेले मेने ही खाया

अकेले मेने ही खाया, दिया सबका हिस्सा वार
हम सबने मिलकर कर दिया, देश का बंटाधार

देश का बंटाधार, नही था दूजा कोई उपाए
भिराष्टचार कि जद से कोई हे जो बच के दिखाए

हे जो बच के दिखाए , ये परंपरा बहुत पुरानी
कोशिश कि जिसने भी, उसको याद दिला दी नानी

काहे बाबा गौरव, हे ये बीमारी ला-इलाज
हो सके तो कर दो, इन नेताओं को खल्लास!

Alok Khare(GV)

शिवम् मिश्रा said...


बेहतरीन पोस्ट लेखन के बधाई !

आशा है कि अपने सार्थक लेखन से,आप इसी तरह, ब्लाग जगत को समृद्ध करेंगे।

आपकी पोस्ट की चर्चा ब्लाग4वार्ता पर है-पधारें

वन्दना said...

वाह वाह वाह वाह वाह वाह्……………………गज़ब की रचना लगाई है सारा सच उगल दिया ।

दिगम्बर नासवा said...

गिल कलमाडी दौऊ खडे, काके लागू पांय !
बलिहारी मै दौऊ पर, भट्टा दिया बिठाय !!

भाई मज़ा आ गया ... ग़ज़ब लिखा है ...

Mrs. Asha Joglekar said...

वाह वाह क्या कॉमनवेल्थ दोहे हैं ।