Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

25.3.08

मेरी पहली जहाज यात्रा

भड़ासियों को यह सूचित करते हुए मुझे अपार हर्ष का अनुभव हो रहा है कि मैं अपने जीवन की पहली हवाई यात्रा कल करने जा रहा हूं, कल बोले तो 26 मार्च को। अहमदाबाद में एक मीटिंग के सिलसिले में जाना हो रहा है। बड़ी पुरानी हसरत रही है कि मुझ देहाती को भी कभी जहाज में उड़ने का मौका मिले। अभी तक तो आसमान में उड़ते हुए जहाज को गर्दन उठाकर उंगली उठाकर निहारने और का ही सुख नसीब हुआ है। तो आप लोग मुझे अभी से बधाई दे दो क्योंकि पता नहीं कल जब जहाज उड़े तो फिर उतरे या नहीं क्योंकि जिस जहाज पर मुझ जैसा आदमी होगा उस जहाज की तो फटेगी ही :)

और हां, अहमदाबाद में कोई अगर ब्लागर साथी हों तो मुझे जरूर याद करें, yashwantdelhi@gmail.com पर मेल करके ताकि वहां पहुंचने पर अगर कुछ ब्लागर साथी मिल जाएं तो मजा ही आ जाए। वैसे, अपने संजय बेंगाणी और घुघूती बासूती जी के बारे में मुझे जो जानकारी है उसके मुताबिक ये लोग अहमदाबाद में ही निवास करते हैं पर इन लोगों का नंबर इस वक्त मेरे पास नहीं है वरना मैं इन्हें फोन कर जरूर इत्तला करता।

अहमदाबाद के बाद अगले रोज मुंबई जाना है। वहां ढेर सारे ब्लागर साथी हैं जिनसे मुलाकात करनी है। इनमें प्रमुख हैं डा. रूपेश श्रीवास्तव, मुनव्वर सुल्ताना, मनीषा दीदी, शशि सिंह, बोधिसत्व, प्रमोद सिंह, अनिल रघुराज, अभय तिवारी, आशीष महर्षि....देखता हूं इनमें से कितने लोग लिफ्ट देते हैं। मुंबई से 29 को वापसी है।

तो भाइयों, मैं तो अपनी पहली जहाज यात्रा को लेकर उसी तरह रोमांचित हूं जिस तरह बचपन में साइकिल की पहली सवारी को लेकर रोमांच हुआ करता था। आप लोगों का क्या कहना है?
जय भड़ास
यशवंत

9 comments:

आशीष said...

सबसे पहले हवाई यात्रा के लिए बधाई। मेरा नंबर तो आपके पास यह है ही, फिर भी लिख लें 9867575176 और जल्‍दी से मुंबई पहुंचने के बाद इतला करें

rakhshanda said...

BEST OF LUCK dada,khuda kare aapka safar bahot khoobsoorat ho..aor aap isko poori tarah enjoy kar saken...meri bahot sari duaaen aapke sath hain...AMEEN

rakhshanda said...

wahan se aane ke bad is yatra ke baare mein detail se likhiyega...airoplane ki pahli yatra ka anubhav kaisa raha...aor aapne kaisa feel kiya...Allah hafiz

Sanjeet Tripathi said...

शुभकामनाएं, घुघूति जी अहमदाबाद में निवास नही करतीं!!

हरे प्रकाश उपाध्याय said...

best of good luk...khilega to dekhenge...jahaj me bhabhee log ko chhedna nhi dada...mane bhadas kholkr mt dekhne lgna..sre-aam.(. aana to batana jroor ki maja kaise aaya?

आलोक सिंह रघुंवंशी said...

क्या बात है जनाब
आखिर वह दिन आ ही गया, जो ख्वाब मैं देखा करता था उसे अब आप पूरा करने जा रहे हो। उड़िएगा तो मैं नीचे से देखूंगा और अपने साथियों को बताउंगा कि वो देखो यशवंत भाई का जहाज जा रहा है।
आलोक सिंह रघुवंशी

अबरार अहमद said...

बहुत बहुत बधाई। शुरुआत हो गई है भाई साहब। अब सारा आसमान हमारा है। एक बार और बधाई।

गौरव मिश्रा (वाराणसी) said...

best of Luck DADA AB SAB KA NO Aa jayega haa ......haa.....haa.....

डा०रूपेश श्रीवास्तव said...

दादा,ईश्वर हवाई सुन्दरियों से आपको बचाए और आपसे उनको,हमारी गैंग आपको जहां आप चाहें वहां से उठा कर अपने गरीबखाने पर ले आयेगी और मिल कर गाएंगे वो मोटू(अब पतले)अदनान सामी का गाना ... अपनी भी तो लिफ़्ट करा दे