Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

21.4.09

अलविदा सर ,अपना ख्याल रखना

आखिरकार वही हुआ जिसका डर था ,निशांत सर हम हमारे साथ काम नहीं करेंगे .सच में यही खबर तो मिली थी हमें उस वक्त .....और एक सदमा जिसने voi को एक बड़ा झटका दे दिया ,और सच भी यही की हमारा आचल भी इतना लाल हो गया है की अब पता ही नहीं लग रहा की वो खून है या फिर कुछ और ...... मैं वही पर मौजूद था ,मेरे आँखे इस बात की गवाह बन रही थी की आखिर इस इस व्यक्ति में ऐसा क्या था ? जिसने एक तड़पन हमेशा के लिए छोड़ दी शायद हमारे लिए .......... रात के तक़रीबन 11:00 बज रहे है मैं अपने ऑफिस से घर पर आ चूका हूँ ,लेकिन मैंने अपनी आँखों से देखा है उन लम्हों को जिसे मैं शायद कभी भूल नहीं पाऊंगा,ना तो अब हमें कोई जोक सुनाएगा और न ही कोई जोर जोर से चिल्लाएगा ,वैरी गुड सर - आज पूरा माहोल देखा सर के कभी इतना करीब तो नहीं था लेकिन उन्होंने अपने करीब सब को सोचा था ,मेरे लिए यह पल बिलकुल नया है ,मन न जाने क्यों अपने आप को कटोच रहा है .हकीकत यही है की मैं उनके जाने के वक्त को याद करता हूँ तो अपने साथियों को देखता हूँ और फिर एक गहरी उदासी छा जाती है क्योंकि कल फिर ऑफिस जाना है लेकिन कल कोई हाथ मिलाने नहीं आएगा ,ना ही कल कोई पूछेगा तुने गर्ल फ्रेंड बनाई क्या ?................कई बाते अब कभी नहीं होंगी .न्यूज़ रूम में एक बदलावहोगा वही बोरियत हमारे साथ रहेगी .....मैंने कई लोग देखे जिनकी आँखों में आंसूं देखे है सिर्फ रहेगा परिवार के लिए जो हमारे ऑफिस मैं अब तक बना रहा था ,इस्तीफों का दौर तो चलता रहता है लेकिन ऐसा इस्तीफा जिसने एक परिवार तोड़ दिया .जहा खबरों के बीच कोई अपना भी खबर बन गया .मैंने तो अंत तक उनको अलविदा कहा था ,शायद कोई कसक बाकी रह गई थी .लेकिन अपनों को खोने का दुःख पुरे ऑफिस को हुआ था ..... miss u sir miss u ashish ,vipin ,amit

2 comments:

दर्पण साह "दर्शन" said...

acche logon ko har koi miss karta hai..

accha charitr chitran...

shruti said...

ab pata nahi kya hoga lekin sach yahi yeh ki news rum ab gumsum saa rahega .,ab koi nahi hoga jo hamko hello kahega ....ab udaas hone par koi nahi puchega ......miss u again
shruti n voi team