Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

22.7.08

भड़ास का जिक्र ......

भड़ास का जिक्र रफ़्तार के दोपहर संस्करण ने अपने ब्लाग रिव्यू में कुछ इस तरह करा है जरा देखिये तो कि क्या ये तारीफ़ है या निंदा या बस एक समालोचना?????


हिंदी ब्लॉगजगत का सबसे 'कुख्यात' ब्लॉग है भड़ास डॉट ब्लॉगस्पॉट डॉट कॉम। गालीगलौज से लेकर टांग खिंचाई तक कर यहां भड़ास निकाली जाती है। इसी के चलते इसे बैन करने की मांग व कोशिश भी की गई। इधर भड़ासगी कुछ अलग रूप में सामने आई है। एक जरूरतमंद के लिए धन एकत्र करने की मुहिम इसके कुख्यातपन पर सफेद दाग ही तो है। हालांकि, सार्थक बहस की गुंजाइश भी यहां है और मन में उमड़ रही दो पंक्तियों को भी पनाह है। भड़ास कम्युनिटी ब्लॉग है। इसका लिंक है
http://bhadas.blogspot.com

1 comment:

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) said...

बडे भैया,

तारीफ़ हो या निंदा या एक समालोचना, है बिलकुल भडासाना अंदाज में हम तो खुश हुए। जोरदार लिखा है जैसा काम वैसा परिचय।

जय जय भडास