Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

31.12.08

HAPPY NEW इयर नव वर्ष की शुभकामनाएं

HAPPY NEW YEAR यानि नए वर्ष में खुश रहना। हम HAPPY(खुश) कैसे रह सकते हैं? कभी आपने इस बारे में सोचा है? मेरे विचार से तो हम HAPPY(खुश) तभी रह सकते हैं जब हम अपनी आवश्यकताओं (Requirments/Needs) और अपेक्षाओं (Expectations) को सीमित कर दें या कम कर दें। यह सत्य है कि कोई भी व्यक्ति किसी की अपेक्षाओं पर पूरी तरह से खरा नहीं उतर सकता और न ही किसी की आवश्यकताओं की पूर्णतया पूर्ति कर सकता है। सभी की अपनी-अपनी आवश्यकताएं हैं, किसी से अपेक्षाएं है। मां-बाप की अपने बच्चों से अपेक्षाएं हैं। उसी तरह बच्चों की अपने मां-बाप से अपेक्षाएं हैं। पति की अपनी पत्नी से अपेक्षाएं हैं। उसी तरह पत्नी की अपने पति से अपेक्षाएं हैं। दोस्त की दोस्त से अपेक्षाएं हैं। बॉस की अपने कर्मचारियों से अपेक्षाएं हैं। कर्मचारियों की अपने बॉस से अपेक्षाएं हैं। जनता की अपने नेताओं से अपेक्षाएं हैं। अपेक्षाएं अनंत हैं। क्या सभी लोगों की सभी अपेक्षाएं पूरी हो पाती हैं? इसका उत्तर निश्चित रूप से ''नहीं'' में होगा। क्योंकि सभी बच्चे अपने मां-बाप की अपेक्षाओं के अनुसार नहीं चल सकते और न ही कोई मां-बाप अपने बच्चों की सभी अपेक्षाओं की पूर्ति कर सकता है। न ही कोई दोस्त अपने दोस्त की सभी अपेक्षाओं पर खरा उतर सकता है और न ही कोई नेता अपनी जनता की अपेक्षाओं के अनुरूप अपने को ढाल सकता है। जब हमारी अपेक्षाओं के अनुरूप कार्य नहीं होता है तो हम दुखी हो जाते है। उस परिस्थिति में हम HAPPY(खुश) कैसे रह सकते हैं?

हम प्रतिवर्ष लोगों को HAPPY NEW YEAR कह कर अपनी शुभकामनाएं तो दे देते हैं, परन्तु उन्हें वास्तविक रूप से HAPPY(खुश) रहने का राज नहीं बताते। क्योंकि जब तक वह HAPPY(खुश) नहीं रहेगा तब तक HAPPY(खुश) रहने की शुभकामनाएं देना बेमानी ही रहेगी। मेरे विचार से तो जब तक हम अपनी अपेक्षाओं और आवश्यकताओं को किसी पर थोपते रहेंगे तथा अपनी अपेक्षाएं सीमित नही करेंगे, कम नहीं करेंगे। तब तक हम वास्तविक रूप से HAPPY(खुश) नहीं रह सकते।

आओ ! इस वर्ष हम संकल्प लें कि इस वर्ष हम अपनी कुछ आवश्यकताओं (Requirments/Needs) और अपेक्षाओं (Expectations) में कमी लाएंगे। तभी हम वास्तविक रूप से HAPPY(खुश) रह पाएंगे। इसी संकल्प के साथ हम एक-दूसरे को नव वर्ष की शुभकामना दें-

HAAPY NEW YEAR

1 comment:

jordan shoes said...

i agree your idea ! very nice blog