Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

25.10.08

अच्छा हुआ …

http://waqthai.blogspot.com
अच्छा हुआ
अच्छा हुआ … जो पिटे....
बिहार जाने वाली या बिहार से गुज़र के जो ट्रेन जाने वाली थी सब को रद्द कर दिया गया....। स्टेशन में भीड़, लोग बेहाल परेशान, कहां जायें, कैसे पहुचें कुछ पता नहीं .... रमेश को कुछ समझ नहीं आ रहा था कि ट्रेनें क्यों नहीं चल रही ... उसने झुंझलाते हुये पुछा क्या हुआ ट्रेनों को क्यों नही चलाया जा रहा ....किसी ने बताया अरे भई वहां आंदोलन चल रहा है ट्रक जाम हैं सड़कों पर लोग है सब तरफ अफरातफरी है ...दुकाने जलाई जा रही है सरकारी संपत्ति का नुकसान किया जा रहा है ... बहुत ज़बरदस्त आंदोलन है .....25 तारीख़ को पूरा बिहार बंद होगा ...
रमेश ने पुछा क्यों भई क्यों ... लोगो ने कहा अरे तुम कहा से आये हो, देश में कितना कुछ हो गया और तुम कहते हो क्यों ... राज .... राज ठाकरे के लोगों ने महाराष्ट्र में परीक्षा देने गये, बिहार के छात्रों को मार-मार कर भागया, बहुत पीटा ...उसी के विरोध में ये सब हो रहा है ...
रमेश के लिये ये सब नया था ... उसने कहा, पर अगर ये सब मुंबई में हुआ, वहां के लोगो ने किया तो उसका विरोध बिहार में प्रदर्शन कर के अपने ही लोगो की दुकाने जला के ..अपने ही प्रदेश का नुकसान करके कैसा आंदोलन, कैसा बदला ... लोग नाराज़ हो गए, बोले अरे तुम समझे नहीं ...ऐसे ही नेताओं की नींद टूटेगी ...कितनी उम्मीद से इतने सारे अलग अलग पार्टियों के बाशिंदों को संसद भेजा है हमने ...उनका कोई फर्ज़ है या नहीं ... बहस गंभीर होती जा रही थी ,,,, पर हर बार नींद तोड़ने के लिये अपना नुकसान करना कहां की समझदारी ... अगर आंदोलन करना है और हिम्मत है , तो क्यों नहीं महाराष्ट्र चले जाते हैं.. ट्रेनों में भर कर, वहां करे आंदोलन, अपने ही राज्य में करने का क्या फायदा ...और इनके मारे पूरा देश क्यों परेशान हो । राज ने किया उसे जेल हुई उसके कार्यकर्ता पकड़े गये .. सब ने निंदा की पर ये जो कर रहे हैं ये कौन सी समझदारी है ... मैं यही कहूगां, पिट के भी नहीं सुधरे बिहारी ... लोग भड़क गये पर दिल्ली था इसलिये रमेश बच कर निकल गया ... पर आंदोलन का मकसद वो समझ नहीं पाया ...
http://waqthai.blogspot.com

5 comments:

Tarun Goel said...

रमेश तो बच के भाग गया, पर कब तक हम भागते रहेंगे? :(

Tarun Goel said...

Ramesh to bhaag gaya, lekin kab tak bhagte phirenge ham sab?

Rhythm of life said...

राज के हरकतों से तंग आ गया हूँ
---------------------------------

राज के हरकतों से तंग आ गया हूँ और अब मुह से भड़ास निकलने का दिल भी नहीं होता मेरा मतलब सीधा है भाइयों अब हमे भी एक बार हाथ साफ़ करने का अवसर मिलना चाहिए राज तो आये दिन हाथ साफ़ कर लेते है पर हम भी इंसान है हमारी भी कुछ भावनाए है ॥हमारा भी दिल करता है हाथ साफ़ करने का ।और राज से अच्छा विकल्प हो ही नहीं सकता !क्यों की भैया अपना तो ऐसा ही जो सोचा सो सोचा ..अब इंतज़ार है मौके का !ऐसी बात नहीं है की मैं अकेले हाथ साफ़ कर लूँगा ..मैं अपने सारे भाइयों को मौका दूंगा यार विस्वास करो मे लेकः हूँ नेता तो हूँ नहीं !!आज एक पूजा का आयोजन कर रहा हूँ जिससे भगवान् mujhe jaldi se जल्दी अवसर उपलब्धी कराये आप सभी आमंत्रित है !

संजय सेन सागर
www.yaadonkaaaina.blogspot.com

Kumar sambhav said...

bandhu acha hua apne likha padha maan dukhi ho gaya......... bhai aap kahne chahete hoo ki acha hua bihari pitea.........agar aap ka koi mumbai me mara hota toa shayead apke muha se yea acha hua nahi niklta..........bhadas manch hai kuch bhi kahne ka. kaha lo... lekin jab bihai ko ade haatho liyea hai toa samajh lo barahm baba ko ched diyea.....mean janta hoon ki es waqt jo bihar mea ho raaha hai galat hai.........par koi dusra rasta bhi toa nahi hai........kitni baar hum sayam se kam lean..........area hum kuno marathiyon ko maren unhone kyea galti ki hai .......galato to Raj Thakare ki hai. aap hi jara soocho pichle 2 saal se yea natak chal raha hai kabhi biharion ne kuch kaha. Nahi ek shaabd bhi nahi.. babu ham biharion ko ghuma phira ke baat karne nahi aati so aagayea hain abe aapni aukat par...aur saach kahoon maharashtra jane ke liyea koi visa nahi chahea...lekin wapas aagaye na sare uttar bhartiyea wahana se to mumbai 2050 mea nahi abhi dub jayega list dekh lo uttar bhartion ki jo wahana rahtea hain....aur aant mea aap se namra nivedan hai ki yea shabd na prayog karen acha hua bihari pitea.....himat ho toa jawab dena.

gufran said...

हाँ भाई आपकी बातें सही हैं पर कोई ये बताये की कुत्ता जब बीमार होता है तो कोई परेशानी नहीं होती लेकिन कुत्ता जब पागल हो जाये और भौकना बंद करके काटने लगे तो उसका एक ही इलाज है ........क्या ये मत पूछो मेरे भाई बस कुत्ते का इलाज कर देना चाहिए.