Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

22.10.08

ओ दिल्ली वालों, महाराष्ट्र वालों, असम वालों...

अरे दिल्ली वालों ...महाराष्ट्र वालों...असम वालों....आओ...आओ...!!
ऐसा करो महाराष्ट्र वालों..तुम बिहारियों को मारों....!!
दिल्लीवालों तुम किसी और को चुन लो....!!
पंजाब वालों...तुम तो बड़े ही हट्टे-कट्टे हो..!!
तुम क्यूँ चुप बैठे रहोगे भाई...;
तुम भी यु.पी वालों को पीटो ना ...!!
अरे भइया ..तुम तो नाराज हो गए हरियाणा वालों....;
तुम दिल्ली वालों को ही कूट डालो...;
कैसे तुम्हारी छाती पर चढ़े बैठे हैं वर्षों से !!
दक्षिणी वालों .....
तुम वां दूर-दूर से क्या ताक़ रहे हो...
तुम कश्मीर वालों के साथ ही....
दो-दो हाथ कर डालों ना !!
बंगाल वालों अब तुम्हारी बारी है !
तुम तो झारखंड को ही खा जाओ....;
जैसे छीन लिया है तुमसे गुजरात ने ...
तुम्हारे मुहँ की ओर बढ़ता हुआ निवाला !!
अरुणाचल वालों...
तुम क्या मूर्खों की तरह खड़े हो सालों ?
तुम मेघालय वालों की ही माँ.."...."दो !!

भारत माता ......
कितनी शक्ति है तुम्हारे बेटों में!!??
देखो ना किस वीरता से लड़तें हैं....
ये अपने सगे बहनों....भाईयों से !!
ये तो हंसकर मर मिटेंगे किसी भी दुश्मन से !!
मगर इनको ये तो बतलाओ कि....
किसी और से तो ये तब ना लडेंगे...
जब ये आपस में...
लड़कर मर-मिटने से बच रहेंगे.....!!

भारतमाता शक्ति तो अपार है तुम्हारे बेटों में॥
पर ये नहीं जानते कभी भी कि .....
उसे खर्च कहाँ किया जाए ....
फुर्सत में बैठे तेरे बन्दे...
कहीं भी जाकर धमाचौकडी मचा आते हैं....
नहीं सोचते कभी परिणामों की....
सोचते हैं तो सिर्फ़ वोटों की...!!
हे भारतमाता !!
ये तेरा क्या उद्दार करेंगे ??
ये कपटी तो तेरे सामने ही
तेरी अस्मिता का बलात्कार करेंगे !!
ये तुझको अभी-अभी भाड़ में झोंक डालेंगे !!
तू ऐसा कर ...
अभी की अभी तू कूद जा किसी गहरे कुँए में....
या देखती रह कि कैसे करती हैं ...
तेरी ही संताने....तेरी योनि पर प्रहार ......!!??

7 comments:

Rajak Haidar said...

बहुत बढ़िया, शानदार , बेहतरीन

RAJNISH PARIHAR said...

bilkul sahi chitran kiya hai aaj kew halaat ka.....thanx....rajnish parihar

bavaal said...

बाप रे इतना गुस्सा. वो भी बिल्कुल वाजिब टाइप का. बस बस यार. इक न इक दिन आपकी बात सबकी समझ में आएगी ज़रूर.

Bandmru said...

man ka bhadas nikal liyen na..
aachchha likha hai.... khun garam ho gaya... inaapas ke jhagdo se..
aachchha likha hai...... aachchha likha hai...
thanks bhai....

Anonymous said...

इसी ब्लॉग पर "होश में आओ ठाकरे" में ओकार देशमुख ने कुछ कमेन्ट किया है उसे देखे मेरा जवाब है

इस मूर्ख देश विमुख से मेरा एक ही सवाल है .... क्या सारे मराठी महाराष्ट्र में ही सिमटे काम धंधा करते रहते हैं या कभी देश के बाहर यूं एस ए यूं के यूरोप भी गए हैं?
अगर वहाँ के लोग भी उनको मार पीट कर वापस भेजना शुरू कर दे की तुम पिछडे लोग यहाँ क्या कर रहे हो हमारे developed metropolitans के सामने तुम्हारे बोम्बे पूना पिछडे है जाओ वापस जा कर अपना देश ठीक करो यहाँ क्या कर रहे हो why you idiots came here and for what? dont you have job in your own maharashtra? we ever come to your state for damn job? भडास ही निकालनी हे तो तुम्हारे Politicians पे निकालो जिन्होने तुम्हे जान बूजकर Under-Developed रखा हे..और इसक जवब हिम्मत हे तो french german roman italian hebrew etc etc मे ही देना..

तो कैसा रहेगा ????????????????

Anonymous said...

इसी ब्लॉग पर "होश में आओ ठाकरे" में ओकार देशमुख ने कुछ कमेन्ट किया है उसे देखे मेर कहना है
इस मूर्ख देश विमुख से मेरा एक ही सवाल है .... क्या सारे मराठी महाराष्ट्र में ही सिमटे काम धंधा करते रहते हैं या कभी देश के बाहर uk usa europe etc. भी गए हैं?
अगर वहाँ के लोग भी उनको मार पीट कर वापस भेजना शुरू कर दे की तुम पिछडे लोग यहाँ क्या कर रहे हो हमारे developed metropolitans के सामने तुम्हारे बोम्बे पूना पिछडे है जाओ वापस जा कर अपना देश ठीक करो यहाँ क्या कर रहे हो why you idiots came here and for what? dont you have job in your own maharashtra? we ever come to your state for damn job? भडास ही निकालनी हे तो तुम्हारे Politicians पे निकालो जिन्होने तुम्हे जान बूजकर Under-Developed रखा हे..और इसक जवब हिम्मत हे तो french german roman italian hebrew etc etc मे ही देना..

तो कैसा रहेगा ????????????????

aaj ki Aawaaz said...

वाह बहुत खूब !!!
बेहद सुंदर, सशक्त और सार्थक भडास है भाई !
हम सबके अन्दर भैया ऐसा ही कुछ उबल रहा है! आप तो भडास निकाल कर हल्का हो गए लेकिन हम क्या करें ?
देश में तो "स्टेट- स्टेट" का मानो खेल चल रहा है ! अभी तो और भी कई स्टेट बनने बाकी हैं !
पहले नारा था - " भारत छोडो".......... अब नारा है " भारत तोड़ो" !!!