Bhadas ब्लाग में पुराना कहा-सुना-लिखा कुछ खोजें.......................

25.9.11

जन लोकपाल बिल

- ईश्वर एक जन लोकपाल बिल हैजिसने इसे मान लिया , वह इसमें फंस गयाजिसने नहीं माना , वह मुक्त हो गया । #
- ईश्वर एक राजनीतिक उम्मीदवार हैइसे वोट दोगे तो यह जीतकर तुम्हारे ऊपर कहर ढाएगाअतः "इनमे से कोई नहीं " का बटन दबाव । #
- देखिये , हम नागरिक जन , राजनीतिक प्राणी हैंराजनीति में ईश्वर और धर्म का प्रवेश अच्छा नहीं माना जाता । #

2 comments:

तेजवानी गिरधर said...

आपकी बातें बडी रहस्यपूर्ण हैं

Ugra Nath Nagrik said...

Han , tej bhai ! Lekin saral -shuddh man ke liye bilkul goorh nahi hain , bhale paalan na kar mile .